डरी हुई सहमी सी
प्यारी सी भोली सी
देखती चिहुँक कर चहुओर 
धड़कन बढ़ी सांसे अटकी
लगाए आस पुरजोर
एक स्पर्श प्रेम का पाकर
उड़ चली उस ओर।

Originally posted 2019-11-05 14:39:06.

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.